'ट्रंप नहीं हैं मोदी': अरुंधती रॉय


"..लोग डोनल्ड ट्रंप को व्हाइट हाउस में किसी तरह झेलने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन यहां हालात और गहरे हैं और जैसा कि मैंने कहा डोनल्ड ट्रंप केवल डोनल्ड ट्रंप हैं लेकिन मोदी महज मोदी नहीं हैं. मोदी एक पूरा तंत्र हैं जो कि आधुनिक भारतीय इतिहास को ताक पर रखकर लगातार आ रहा है. मुझे लगता है कि हमें इस दौर से गुज़रना ही था. मैं केवल यह उम्मीद कर सकती हूं कि जब तक हम इससे निकलें हमें इसकी बहुत ऊंची कीमत ना चुकानी पड़े..''
- अरुंधती रॉय



समाचार चैनल अल्जज़ीरा के मशहूर एंकर मेहदी हसन के एक शो  'UP FRONT'  में मशहूर लेखिका और बुकर पुरस्कार से नवाज़ी गईं लेखिका अरुंधती रॉय ने कहा है कि, ट्रंप से मोदी की तुलना सही नहीं हैं.

जब उनसे सवाल पूछा गया, "उन लोगों के बारे में आप क्या कहेंगी, जो कि मोदी को भारत का डोनल्ड ट्रंप कहते हैं? क्या यह एक सही तुलना है?"

उन्होंने जवाब दिया, "मुझे नहीं लगता कि यह एक सही तुलना है. डोनाल्ड ट्रंप एक ​तंत्र के गड़बड़ा जाने के क्रम में जन्मे हैं, जबकि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, एक तंत्र हैं जो कि 1925 (में आरएसएस के गठन के बाद) से लगातार आ रहा है.'' उन्होंने आगे जोड़ा, "और इस लोकतंत्र के सारे संस्थान उन्हें सहारा देते हैं। प्रेस उन्हें सहारा देती है, न्यायपालिका उन्हें सहारा देती है, ख़ूफ़िया तंत्र उन्हें सहारा देता है, सेना उन्हें सहारा देती है. लोग डोनल्ड ट्रंप को व्हाइट हाउस में किसी तरह झेलने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन यहां हालात और गहरे हैं और जैसा कि मैंने कहा डोनल्ड ट्रंप केवल डोनल्ड ट्रंप हैं लेकिन मोदी महज मोदी नहीं हैं. मोदी एक पूरा तंत्र हैं जो कि आधुनिक भारतीय इतिहास को ताक पर रखकर लगातार आ रहा है. मुझे लगता है कि हमें इस दौर से गुज़रना ही था. मैं केवल यह उम्मीद कर सकती हूं कि जब तक हम इससे निकलें हमें इसकी बहुत ऊंची कीमत ना चुकानी पड़े.''